Happy . news for Indian farmers

खुशखबरी! 6 दिन बाद इन किसानों के खाते में आ जाएंगे 2000 रुपए, जानें आप इस लिस्ट में हैं या नहीं!
एक अप्रैल को फिर किसानों के खाते में आएंगे 2000 रुपये..
Updated on: March 25, 2019, 10:56 AM IST
news18 hindi , News18Hindi
NEWS18India News18India News18India News18India News18India
खुशखबरी! 6 दिन बाद इन किसानों के खाते में आ जाएंगे 2000 रुपए, जानें आप इस लिस्ट में हैं या नहीं!

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) का फायदा 1 अप्रैल को फिर किसानों के खाते में 2000 रुपये आएंगे ही. कृषि मंत्रालय के अधिकारियों ने न्यूज18 हिंदी से बातचीत में यह बात स्पष्ट कर दी है. इस स्कीम के तहत दो-दो हजार रुपये की पहली किस्त करीब दो करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में पहुंच चुकी है. दूसरी किस्त के लिए भ्रम फैल रहा था कि पता नहीं दूसरी किस्त के पैसे आएंगे या नहीं.पीएम मोदी ने 24 फरवरी को गोरखपुर में किसानों से जुड़ी सबसे अहम योजना की औपचारिक शुरुआत की थी. उसी दिन से पात्र किसानों के अकाउंट में 2000 हजार रुपये की इसकी पहली किस्त पहुंचनी शुरू हो गई थी. सियासी विश्लेषकों ने इसे मोदी का मास्टर स्ट्रोक बताया था क्योंकि राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार किसानों के अकाउंट में सीधे पैसा भेजा गया. (ये भी पढ़ें: केंद्र सरकार को पता नहीं किसानों के खाते से क्यों वापस हो रहा पैसा)

पीएम ने गोरखपुर में लॉंच की थी किसानों की यह स्कीममोदी सरकार ने इस योजना को कांग्रेस की कर्जमाफी वाली स्कीम के काट में लॉंच किया. जाहिर है इसके सियासी फायदे का भी अनुमान लगाया गया होगा. सरकार की कोशिश थी कि किसी भी तरह से एक-दो किस्त चुनाव से पहले पहुंच जाए. ताकि यह स्कीम रुकने न पाए.संयोग से पहली किस्त आचार संहिता से पहले जा चुकी है. इस बारे में हमने चुनाव आयोग से जानना चाहा कि इस स्कीम की दूसरी किस्त पर रोक तो नहीं लगेगी? इस पर आयोग की प्रवक्ता शेफाली शरण ने कहा, “हमने इंस्ट्रक्शन इश्यू कर दिए हैं कैबिनेट सेक्रेटरी और सभी चीफ सेक्रेटरी को. कोई स्कीम जो मिनिस्ट्री देख रही है वो अगर हमें रेफरेंस करेंगे कि यह मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का वायलेशन होगा तो हम देखेंगे. जो भी उस स्कीम को चलाने वाली मिनिस्ट्री है वहां बात कीजिए.”इसके बाद हमने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के सीईओ विवेक अग्रवाल से बातचीत की. अग्रवाल ने कहा, “इस स्कीम पर मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू नहीं होगा.” साफ है कि सरकार तय समय पर (एक अप्रैल को) पात्र किसानों को 2000 रुपये की दूसरी किस्त भेज देगी. (ये भी पढ़ें: इन ‘किसानों’ से वापस ली जाएगी 2000 रुपये की सहायता, कहीं आप तो नहीं हैं इनमें? )

पहली किस्त पाने वालों को मिला था ऐसा संदेश!तीसरी किस्त के लिए आधार जरूरीइस स्कीम की पहली किस्त के लिए आधार जरूरी नहीं था. बाद भी दूसरी किस्त के लिए नंबर जरूरी किया गया लेकिन बायोमैट्रिक वेरीफिकेशन में छूट दी गई है. इसका वेरीफिकेशन तीसरी किस्त मिलने से पहले होगा. तब तक लोकसभा चुनाव बीत चुका होगा और किसानों के अकाउंट में चार-चार हजार रुपये आ चुके होंगे.सरकार ने दूसरी किस्त के लिए आधार बायोमैट्रिक लेने में ढील क्यों दी? इसके बारे में कृषि मंत्रालय के अधिकारियों ने जानकारी दी है. कृषि मंत्रालय के एक बयान में लिखा गया है, ‘हालांकि दूसरी किस्‍त के लिए शत-प्रतिशत आधार डेटा प्राप्‍त करना कठिन है, क्‍योंकि इसके लिए बायोमैट्रिक प्रमाणन की जरूरत है. नामों की वर्तनी में अंतर से बड़े पैमाने पर लाभार्थियों के नाम रद्द हो जाएंगे.’

किसान (file photo)’लाभार्थियों के आधार ब्‍यौरे को प्रमाणित करने के कारण दूसरी किस्‍त को जारी करने में विलंब होगा. दूसरी किस्‍त को जारी करने की तिथि 01 अप्रैल, 2019 है. विलंब से किसानों में असंतोष बढ़ेगा, इसलिए आधार शर्त में ढील दी गई है. यह शर्त तीसरी किस्‍त जारी करने के लिए मान्‍य होगी. दूसरी किस्‍त के लिए केवल आधार संख्‍या को ही अनिवार्य माना जाएगा. भुगतान से पहले सरकार आंकड़ों को प्रमाणित करने के लिए पर्याप्‍त कदम उठाएगी.’ये भी

Advertisements